High Security Registration Plates HSRP :  केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मार्च 2022 में घोषणा की थी कि 60 किमी से कम के राष्ट्रीय राजमार्गों पर कोई टोल प्लाजा नहीं होगा। उस वक्त गडकरी ने कहा था कि ये नियम अगले 3 महीने में लागू हो जाएंगे। अब अगस्त का महीना शुरू हो गया है। इस बीच गडकरी ने एक और ऐलान किया है। देश में टोल प्लाजा पर प्रक्रिया बंद होने से पहले देश के सभी पुराने वाहनों में नई नंबर प्लेट लगाई जाएगी। यह नई नंबर प्लेट टोल प्लाजा को खत्म करने की दिशा में पहला कदम होगा।

इन नई नंबर प्लेटों की जीपीएस और परिष्कृत प्रणालियों का उपयोग करके उपग्रह द्वारा सीधे निगरानी की जा सकती है। साथ ही वाहन कितने किलोमीटर चला है उसके हिसाब से वाहन चालकों से टोल वसूला जाएगा। उसके लिए हमारे देश में FASTag सिस्टम पहले से मौजूद है। देश में लगभग 97 प्रतिशत वाहनों ने FASTag सिस्टम का उपयोग करना शुरू कर दिया है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि, हमने 2019 से नए वाहनों के लिए टैम्पर प्रूफ हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट्स (HSRP) का उपयोग शुरू कर दिया है। इसके जरिए सरकारी एजेंसियों को वाहनों की पूरी जानकारी मिल जाएगी। अब यह सिस्टम पुराने वाहनों के लिए भी शुरू होने जा रहा है। इसलिए केंद्र सरकार ने फैसला किया है कि पुराने वाहनों पर भी नई नंबर प्लेट लगाई जाएंगी। ये नई नंबर प्लेट जीपीएस के साथ होंगी।

( बाईक-कारों पर ऑफ़र, जानकारी और सभी News प्राप्त करने के लिए लिंक पर क्लिक करके ‘द गाडीवाला’ व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें :- https://chat.whatsapp.com/JfFD2GIuJX80rWCTc2NsLU )

गडकरी ने कहा कि वर्तमान में 60 किमी के क्षेत्र में दो टोल प्लाजा हैं, लेकिन नागरिकों को दोनों टोल प्लाजा पर पूरा टोल देना पड़ता है। लेकिन अब अगर आप हाईवे पर सिर्फ 30 किमी तक का सफर तय करते हैं तो नई तकनीक की मदद से आपसे आधा टोल ही वसूला जाएगा, जिसका फायदा नागरिकों को मिलेगा। गडकरी ने कहा कि सरकार देश को टोल प्लाजा से मुक्त करने के लिए काम कर रही है। लेकिन यह अभियान अभी योजना के चरण में ही है।

इस अभियान के बारे में अधिक जानकारी देते हुए गडकरी ने कहा कि टोल प्लाजा पर वाहनों की लंबी कतार नहीं लगेगी। इससे प्रदूषण नहीं होगा और नागरिकों का समय भी बचेगा। नई तकनीक की मदद से वाहन चालकों के बैंक खातों से सीधे पैसे कटेंगे। भारत में लगभग 97 प्रतिशत वाहन पहले से ही FASTag पर चल रहे हैं। गडकरी ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले भारत का रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर अमेरिका जैसा होगा।

ध्यान देने वाली एक महत्वपूर्ण बात यह है कि, टोल प्लाजा को हटाने का मतलब यह नहीं है कि आपको राजमार्गों पर टोल टैक्स नहीं देना होगा। इसका मतलब है कि नई प्रणाली आपके खाते से पैसे काटने में कारगर होगी। दुनिया भर के कई देश इस प्रणाली का उपयोग कर रहे हैं। इस सिस्टम में हाईवे पर लगे कैमरों की मदद से ड्राइवरों से सीधे चार्ज किया जाता है। ये कैमरे कार की नंबर प्लेट का पता लगाते हैं, जो सीधे कार मालिक के बैंक खाते से जुड़ी होती है। यह सारी प्रक्रिया बिना गाड़ी रुके पूरी हो जाती है और लोगों का रोड जर्नी और भी आरामदायक हो जाएगी।

यह भी पढ़ें:  https://thegadiwala.in/traffic-rules-india-see/?quad_cc 

Share.

Leave A Reply