हैदराबाद: यह कहना बिलकुल भी गलत नही होगा कि भारत अब टेक्नोलॉजी के मामले में विकसित देशों की बराबरी कर रहा है। इसके साथ ही दुनिया के टेक हब के रूप में अपनी पहचान बना ली है।

हालांकि, भले ही भारत डिजिटल इंडिया बन गया हो, देश की करोड़ो की आबादी अब भी खेती पर निर्भर है। इसीलिए आज भी भारत को कृषिप्रधान देश माना जाता है। अब टेक्नोलॉजी की मदद से भारत स्मार्ट खेती के लिए तैयार हो चुका है।

भारत में इन दिनों इलेक्ट्रिक वाहन (EV) बाजार काफी तेजी से विकसित हो रहा है। गौरतलब है कि भारत अन्य क्षेत्रों में भी प्रगति कर रहा है जहां इलेक्ट्रिक वाहनों को तैनात किया जा सकता है। उदाहरण के लिए कृषि और खेती।

दुनिया की पहली पूरी तरह से इलेक्ट्रिक स्मार्ट ट्रैक्टर निर्माता मोनार्क ट्रैक्टर ने अब भारत में प्रवेश किया है। कंपनी ने अपना पहला कार्यालय हैदराबाद में खोला है।

कंपनी ने भारत में Einsite नामक एक भारतीय कंपनी के साथ भी साझेदारी की है। यह एक इनसाइट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करने वाली कंपनी है।

इन दिनों पूरी दुनिया में ऑटोनॉमस ड्राइव टेक्नोलॉजी का चलन तेजी से बढ़ रहा है और इस क्षेत्र में कई बड़ी कंपनियां काम कर रही हैं।ऐसे में कृषि से जुड़े वाहनों को भी इससे छूट नहीं है.

 मोनार्क ने सेल्फ-ड्राइविंग तकनीक से लैस दुनिया का पहला पूरी तरह से इलेक्ट्रिक स्मार्ट ट्रैक्टर बनाया है। अमेरिकी कंपनी मोनार्क का मानना ​​है कि तकनीक कृषि क्षेत्र को बदल सकती है, इस क्षेत्र में उत्पादकता, सुरक्षा और आय में सुधार कर सकती है।

भारत में मोनार्क की पार्टनर कंपनी Einsite भी अत्याधुनिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) कैमरों से लैस मशीनों का निर्माण करती है। इस साझेदारी के माध्यम से, मोनार्क भारत में कृषि बाजार में अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहता है।

Share.

Leave A Reply