Advantages and Disadvantages of Self Driving Cars :

सेल्फ-ड्राइविंग कारों के विशिष्ट लाभ :- 

बेहतर सुरक्षा : सेल्फ-ड्राइविंग कार उन्नत सेंसर और सॉफ्टवेयर से बनी हुई हैं, जो मानव चालकों की तुलना में सड़क पर खतरों का अधिक तेज़ी से और सटीक रूप से पता लगा सकते हैं। मानव के वजह से होने वाली दुर्घटनाओं की संख्या कम करने में सेल्फ-ड्राइविंग कार मदद कर सकती है।

दक्षता और सुविधा में वृद्धि : स्व-ड्राइविंग कारें एक-दूसरे के साथ और यातायात के बुनियादी ढांचे के साथ संवाद कर सकती हैं, जिससे उन्हें अपने मार्गों का अनुकूलन करने और भीड़भाड़ कम करने की अनुमति मिलती है। इससे यात्रा का समय कम हो सकता है और ईंधन की कम खपत हो सकती है। इसके अतिरिक्त, स्व-ड्राइविंग कार भी मानव चालक की आवश्यकता के बिना यात्रियों को उठा और छोड़ सकती है, जो गतिशीलता के मुद्दों वाले लोगों के लिए विशेष रूप से उपयोगी हो सकती है।

सेल्फ-ड्राइविंग कारों के विशिष्ट नुकसान :

मानव चालकों के लिए नौकरी का नुकसान : जैसे-जैसे सेल्फ-ड्राइविंग कार अधिक प्रचलित होती जाएगी, मानव चालकों की आवश्यकता कम होती जाएगी, जिससे कई लोगों की नौकरी छूट सकती है।

उच्च लागत : स्व-ड्राइविंग कारों का विकास और तैनाती और आवश्यक बुनियादी ढांचा (जैसे सेंसर और संचार प्रणाली) बहुत महंगा हो सकता है।

यह भी पढे : Tata और Mahindra की टक्कर से बाजार गर्म, जानिए क्या है पूरा मामला?

सुरक्षा और गोपनीयता संबंधी चिंताएं : सेल्फ-ड्राइविंग कारें बहुत सारा डेटा उत्पन्न और एकत्र करती हैं, जो हैकिंग या अन्य प्रकार के साइबर हमलों के लिए असुरक्षित हो सकता है। इन कारों से जनरेट होने वाले डेटा की निजता को लेकर भी चिंता है।

विश्वसनीयता : सेल्फ-ड्राइविंग कारों को अभी भी बहुत परीक्षण और विकास की आवश्यकता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे विश्वसनीय हैं। खराब मौसम और अप्रत्याशित बाधाओं सहित सभी प्रकार की स्थितियों को संभाल सकती हैं।

Share.

Leave A Reply