Top 5 Unsafe Cars in India : भारत में 40 फीसदी कारों का बजट 5 लाख रुपये के करीब होता है। इन सभी कारों में कुछ न कुछ कमी है क्योंकि एक अच्छी क्वालिटी की कार बनाने के लिए कम से कम 8 से 10 लाख रुपये की जरूरत होती है। ज्यादातर आम और मध्यम वर्ग के लोग करीब 5 लाख के बजट वाली कारें खरीदते हैं। बाद में लोगो को लगता है कि इन कारों में कुछ कमी है, लेकिन तब तक वह कार खरीद चुके होते है…अक्सर ऐसा होता है कि आप अपने बजट में एक कार खरीद लेते हैं और वह कार आपकी जरूरतों को पूरा नहीं करती है। कभी कभी कारों का ग्राउंड क्लियरेंस कम होता है तो कभी कभी मायलेज कम होता है। आज का यह पोस्ट ऐसी कारों के लिए है, जो खरीदने से पहले एक बार सोचना चाहिये। आज का यह पोस्ट ऐसी कारों के लिए है, जो खरीदने से पहले एक बार सोचना चाहिये।

एस प्रेसो (S-Presso) :-
यह कार करीब 5 लाख रुपये में उपलब्ध है। हालांकि इस कार की इंजन क्वालिटी अच्छी है, लेकिन यह कार हाईवे पर 80-90 की स्पीड से ड्राइव करने के लिए इंजिन नोईस पैदा करती है। जैसा कि स्ट्रेरिंग रिस्पॉन्स बहुत अच्छी नहीं है, हम इस कार को हाईवे पर चलाते समय कॉन्फिडन्ट नहीं हैं। इस कार को आप किसी भी एंगल से देख सकते हैं, तो समज में आता है की, इस कार का लुक आकर्षक नहीं है।
और अब आखिरी और सबसे अहम वजह यह है कि यह कार बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। अब हाल ही में हुए ग्लोबल एनकैप टेस्ट में इस कार को तमाम सेफ्टी फीचर्स होने के बावजूद ‘0’ स्टार मिल गया है। 4-5 लाख रुपये कार के लिये देकर अपनीऔर परिवार की जान जोखिम में डालने का कोई मतलब नहीं है।

यह भी पढ़ें: टाटा इस महीने लॉन्च करेगी देश की पहली इलेक्ट्रिक हैचबैक कार; देखें, क्या है कीमत और माइलेज

रेनॉ क्विड (Renault Kwid) :-
यह कार 4 लाख से 6 लाख तक में मिलती है। इस कार में 2 तरह का इंजन है। यह कार कम पैसे में ज्यादा फीचर देती है। सस्ते दाम में कूल खरीदने के लिए कई लोग इस कार की ओर आकर्षित होते हैं। अब इस कार को खरीदने से पहले इसके रिव्यूज देखना जरूरी है। इस कार को सबसे कॉन्फउज रीविव्ज मिली है। आधे लोग कम पैसे में अच्छी कार मिलने से बहुत खुश होंगे, जबकि आधे लोग कार के नाम पर बमबारी करेंगे। इस कार की रीसेल वैल्यू काफी कम है।

सुरक्षा के लिहाज से इस कार की स्थिति बेहद खराब है। यह कार तीन बार ग्लोबल एनकैप सेफ्टी टेस्ट से गुजर चुकी है और तीनों बार सेफ्टी के लिए इसे 0 स्टार मिले हैं। अंतिम परीक्षण के रूप में कुछ सुरक्षा सुविधाओं को जोड़ने के बाद, इसे केवल 1 स्टार रेटिंग मिली।
Datsun Redigo, Datsun Go और Go Plus… ये तीनों कारें पहली नज़र में बहुत आकर्षक लगती हैं। इनका लुक काफी भारी होता है। इंटीरियर भी अच्छा है। फिर यह कार क्यों नहीं खरीदी जाती। अब आप कुछ बातें भी जान सकते हैं जैसे, डैटसन कारों की आफ्टर सेल सर्विस अच्छी नहीं है। रिसेल व्हॅल्यू अच्छा नहीं है इस कंपनी के सर्व्हिस सेन्टर भी कम हैं। इन सबके अलावा इन तीनों कारों के इंजन रिफाइंड नहीं हैं। ड्राइविंग मजेदार नहीं है। शोर भी ज्यादा है।

( बाईक-कारों पर ऑफ़र, जानकारी और सभी News प्राप्त करने के लिए लिंक पर क्लिक करके ‘द गाडीवाला’ व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें :- https://wa.me/919850875845?text=I-am-interested%20

Share.

Leave A Reply